पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र – How to focus on studies ?

आजकल पढ़ाई को लेकर हर कोई परेशान है। माँ बाप अपने बच्चों की पढ़ाई को लेकर चिंतित है, तो कोई जिम्मेदार स्टूडेंट्स अपने खुद की पढ़ाई को लेकर परेशान है। एग्जाम नजदीक है, फिर भी पढ़ाई मई मन लग नहीं रहा है। हर तरफ डिस्टर्बेंस है। कोई हमेशा अपने मोबाइल में गेम्स खेलने की आदत को छुड़ा नहीं पा रहा है तो कोई स्टूडेंट्स सोशल मीडिया को ही अपना घर और फॅमिली बना लिया है। घर की जिम्मेदारी है, खुद की जिम्मेदारी है लेकिन उनका मन लग ही नहीं रहा है पढ़ाई में  । कुछ स्टूडेंट्स चाहते तो है कुछ बड़ा करने के लिए लेकिन पढाई क्यों करे और पढ़ाई  कैसे करे उसे लेकर परेशान  रहते है। पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र ता ढूंढ़ते रहते है, लेकिन उनको एक सही गाइडेंस  (guidance) मिल ही नहीं पाया  है । कोई पेरेंट्स तो अपने बच्चो की पढ़ाई को लेकर इतना परेशान है की वो हर जगह से अपने बच्चो के लिए पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र सुनाते रहते है लेकिन उनको सही रिजल्ट्स नहीं मिल पाया  है पढ़ाई को लेकर।

पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र
पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र

कोरोना कल में होर कोई ऑनलाइन पढ़ाई करना चाहता है । खास कर पेरेंट्स छोटे बच्चों की पढ़ाई को लेकर इधर उधर भटक ते रहते है। उनको सही गाइडेंस नहीं मिल पता है की पढ़ाई कैसे करे और पढ़ाई में मन लगाने का  मंत्र के बारे में ।

तो दोस्तों ये पोस्ट आप सभी स्टूडेंट्स के लिए और खास कर उन्ही बच्चो के लिए है जो पढ़ाई में बिलकुल मन लगा नहीं पाते है । इस पोस्ट को पूरा पढ़े और बिच  मे स्किप मत करना। इसमें पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र को अच्छे से एक्सप्लेने किया है की पढ़ाई क्यों करे और कैसे करे । मुझे like या कमैंट्स (comments) कुछ नहीं चाहिए। बॉस आप लोग ध्यान से इस पोस्ट को एक बार पढ़ लो। में कॉन्फिडेंस के साथ बोल सकता हूँ की ये पोस्ट आपका जिंदगी को बदल सकता है।

में इस पोस्ट में 100 कारन (Reasons) को  एक्सप्लेने किया है और उसको पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र के तर पर ही उसे एक्सप्लेने  किया है। तो ध्यान से पढ़ना और समझने की कोसिस करना ।

पढ़ाई मे मन लगाने का मंत्र 

  • मुझे पढ़ना है जेब में चिल्लर नहीं, बटुए में क्रेडिट कार्ड देखना है। अब मुझे पढ़ना है ।
  • हाथ में  बेलन नहीं आईपैड( ipad) देखना है। आप मुझे पढ़ना है। तो छोटे दिए में थोड़ा तेल और डाल देना क्योंकि मुझे बहुत पढ़ना है।
  • पढ़ना  है। जब तक दुनिया सलाम न ठोके  तब तक मुझे पढ़ना है ।
  • जब तक रोड का ट्रैफिक मेरे लिए रास्ता ना छोड़ दे मुझे पढ़ना हैं।
  • जब तक लोग मेरी 2 मिनट के लिए भी वेट (wait) करने न लग जाए तब तक मुझे पढ़ना है ।
  • पढ़ना  हैं तब तक जब तक उंगलियों के सिर किस्मत लिख न दे। मुझे पढ़ना है, जब तक आंखों में जिद  की खुजली ना हो जाए मुझे पढ़ना है ।
  • जब तक शहर का बच्चा-बच्चा इस टोपर क   निकनेम ना जान ले मुझे पढ़ना है ।
  • पढ़ना  है जब तक अखबार वाला मेन पेज में मेरा पोस्टर न रंग दे मुझे पढ़ना हैं ।
  • जब तक एअर फोन की जगह स्टेथोस्कोप लगाने का काबिल न बन जाऊ तब तक   मुझे पढ़ना है।
  • जब तक लोगो की जुबान पे ना चढ़ जाऊ तब तक मुझे पढ़ना हैं ।
  • जब तक सबकी दिलो में ना छा जाऊ तब तक मुझे पढ़ना हैं ।
  • जब तक मेरी नाम के महर ना पढ़ जाए ना तब तक मुझे पढ़ना हैं ।
  • जब तक मेरी कुर्शी के सामने हेड(head) ना लिखा जाए ना तब तक मुझे पढ़ना हैं ।
  • रातों रात तो मेरिट में आ नहीं सकता तो अभी से हमेशा  मुझे पढ़ना हैं ।
  • अपने मुँह से तारीफ तो नहीं कर सकता लेकिन मुझे तारीफ सुना हैं बॉस अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • जब तक सब कुछ हासिल ना करलु बास मुझे पढ़ना हैं ।
  • सर्दी , गर्मी, बरसात कुछ भी हों अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • लालटेन , लट्टू , मोमबत्ती सबकुछ चलेगा बस मुझे पढ़ना हैं
  • सुन छोटे बहार बच्चो को बोल थोड़ा हल्ला कम करें क्यों की अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • जब तक मेरा अपॉइंटमेंट ही मेरा पहचान ना बन जाए तब तक मुझे पढ़ना हैं ।
  • जब तक रात के सरे टारे ना झाड़ जाये तब तक मुझे पढ़ना हैं ।
  • निशाचर हूँ मे, जब तक सारा महल्ला सोकोर उठ ना जाये मुझे पढ़ना हैं ।
  • रात को नहीं जग पाया हैं तो दिन मे ब्राह्ण मुहूर्त पे ही उठ जाना हैं। क्यों की अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • सब्जी में नमक कम हो या चाय में चीनी ज्यादा , खयाल इतना ही हैं की मुझे पढ़ना हैं ।
  • जिस कुर्शी में बैठ के पढ़ रहा हूँ जब तक बो रो ना दे तब तक मुझे पढ़ना हैं ।
  • ना पढ़ने के सौ बहाने हैं तो भी मुझे पढ़ना हैं ।
  • पढ़ने के एक हज़ार मकसद  हैं , लेकिन छोटे मेरे लिए तो एक मकसद ही काफी हैं । अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • नीद तो खुली हुई थी पर आंखे भी खुल गयी हैं । अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • दुनिया ने अपनी  औकात दिखा दी , तो मुझे भी दिखाना हैं । इसलिए पढ़ना हैं ।
  • जनता के स्वार्थ  ज्यादा बढ़ गए हैं , तो मुझे उन स्वार्थियों से लड़ना हैं। बस मुझे अब पढ़ना हैं ।
  • खर्चे के सौ सौ नॉट लेके थो चूका हूँ । बस अब मुझे पढ़ना हैं । पढ़ाई में मन लगाने के मंत्र
  • दुनिया मुझे भोला मानती हैं तो उनको आग का गोला दिखानी हैं । अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • सुन छोटे पीछे वाली बेंच पे बैठ , क्यूंकि मुझे पढ़ना हैं ।
  • जबतक दिमाग में डाटा फिट ना हो जाये ना तब तक मुझे पढ़ना हैं ।
  • हर तूफान को उसके माईके पहंचना हैं , बस अब मुझे केबल पढ़ना हैं

I hope की ये सारे बातें आपको पसंद आये होंगे । ये सिर्फ पढाई में मन लगाने का मंत्र नहीं है बल्कि भबिस्य सुधरने कि मंत्र है । आगे उसके बारे मैं और भी भी डिटेल्स में पढ़िए और समझिए। और अच्छा लगे तो शेयर हॉरर कीजिये ताकि दुसरो को भी ये पोस्ट पढ़के मद्दद मिल सके । मिलते है पोस्ट के लास्ट मैं । पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र

  • सुन छोटे वो जो मुझे धोका देके गयी हैं ना , उसको बोल देना की भैया ने माफ कर दिया हैं । क्यूंकि फालतू के लफड़े नहीं रखना हैं मुझको  क्यूंकि अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • मेरा बाप पत्थर तोड़ तोड़ के खुद के हाथ घुटने टुडे चूका हैं । अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • मुझे गरम खाना खिलाते खिलाते मेरी माँ की चमड़ी थोड़ो हो गयी हैं । अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • वर्दी पे सितारे लगाना हैं । अब मुझ पढ़ना हैं ।
  • दुनिया को जीने का सलीका सीखना हैं । अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • एक मच्छर आदमी को डेंगू दे देता हैं , और एक किताब इंसान को जड़ देता हैं, और उस जड़ को बरगद का पेड़ बनाना हैं । क्यूंकि अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • घर की बिजली से लेकर बहन की सादी सब खर्चा मुझे उठाना हैं क्यूंकि मुझे पढ़ना हैं ।
  • मेरे दोस्त मुझे फटीचर बोलते है , अब मुझे पढ़ना हैं ।
  • इस घोड़ी को बोल की जब में चलना सुरु करू तो अपनी औकात पे चले । फालतू की नौटंकी नहीं करना है । अब केबल पढ़ना है ।
  • बर्बाद कहते है है मुझे महल्ले वाले । अब फूटी किस्मत को बर्बाद करना है । अब मुझे पढ़ना है ।
  • जितने बड़े लिविंग रूम में 10 लोग बैठते है , उतने बड़े बाथरूम में नहाना है, अब मुझे पढ़ना है ।
  • 11 नंबर की गाड़ी से 4wd से माइग्रेट (migrate) करना है , अब मुझे पढ़ना है ।
  • गन्दगी से बहार निकलना है, अब मुझे पढ़ना है ।
  • खुद को ईमानदार साबित करना है, अब मुझे पढ़ना है ।
  • ये रूम किराये का है , लेकिन जिंदगी में नाम बस अपना होना चाहिए, अब मुझे पढ़ना है ।
  • सिंपल सी बात है की में पढ़ सकता हूँ तो अब मुझे पढ़ना है ।
  • क्यंकि पढ़ाई कभी गुडबाय (good bye) कहके ब्लॉक (Block) नहीं करेगी,  इसलिए अब मुझे पढ़ना है ।
  • खोपड़ी में बहत आईडिया है बस अब उनकी जायीकेदार बिरियानी बनाना है । बस अब मुझे पढ़ना है ।
  • सुन छोटे जहा आज मेरा सिक्का नहीं चलता है ना , वह कल मुझे मेरा नोट चलना है । बस मुझे अब पढ़ना है ।
  • अकेला समझ कर कुचलने की बहुत साजिस की गयी है , अब साजिस का पर्दाफास करना है , केबल मुझे पढ़ना है ।
  • हारना मेरे बाप के खून में नहीं लिखा है,  मुझे हर हाल में जितना है। अब मुझे पढ़ना है ।
  • क्यूंकि में दुनिया के आगे झुक नहीं सकता हूँ , और बेबकुफ़ के सामने रुक नहीं सकता , इसलिए  अब मुझे बस पढ़ना है ।
  • जिसको जाना था वो चली गयी , अब  अपने पास बस स्टाइल अपना हैं की  केबल पढ़ना है ।
  • क्यूंकि मुश्किल वक्त भी बीत जायेगा , और जो आज टूटेगा वो सिख जायेगा और जब सिख चूका हूँ , तो आगे बढ़ना है और मुझे सिर्फ पढ़ना है।
  • भटकने वालें पीछे पड़े है और अटकने वालें आगे  खड़े है लेकिन सबको निपट ना है, इसलिए  क्यूंकि मुझे बस अब पढ़ना है ।
  • फालतू की आइडियाज देने वालो की बारात खोड़ी है भले ही उन सबकी जिंदगी की जिंदगी में लगी पड़ी है , बहुत चिलाते है यार ये लोग । छोटे जरा इनको जेक बोल की आज मेरा कान भरा है , क्यूंकि मुझे बस पढ़ना है ।
  • दुनिया में हर कोई खिसका हुआ है , और मुझे चस्का चढ़ा हुआ है , कुछ  भी हो जाये , ये हैंग ओवर कम नहीं होना है , अब मुझे पढ़ना है । पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र
  • सिंपल सी बातें है यार, अगर  मुझे मुझे टोपर बनना है, तो केबल मुझे पढ़ना है ।
  • अब पापा ने कहा है की बीटा नाम करना है , तो उसके लिए भी बस पढ़ना है ।
  • दशहरे के राबण तो हर साल जलता है इस बार मेरे आलोस का राबण जल रहा है । इसलिए बस पढ़ना है ।

जाते जाते सुन छोटे एक जरुरी काम  रेहे गया है जो इन 100 कारन  से भी ऊपर है । सिर्फ देश में नहीं बल्कि पुरे दुनिया में देश का नाम रोशन  करना है । तो बस केबल मुझे पढ़ना है ।

दोस्तों आसा करता हूँ की ये सारी बातें या यूँ कहे लीजिये की पढ़ाई में मन लगाने का मंत्र आपको काफी पसंद आया होगा । और ये सब बातें को लास्ट तक पढ़ने के लिए लाखो सुक्रिया आप लोगोको । ये सरे बातें मेरे दिल के बहत करीब थे। ये सिर्फ पढ़ाई  में मन लगाने का मंत्र नहीं है ये ज़िन्दगी का मंत्र है । जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए या कामियाब होने के लिए ये सब बातें कभी ना कभी आपको मदद करेगा ।

अब आपके सारे जो परिसानिया थी की पढाई कैसे करें। बच्चो कि पढ़ाई कैसे करेंपढाई  में मन कैसे लगाए । छोटे बच्चो की पढ़ाई किसे करें ये सब परेशनिया काफी हद तक कम हुए होंगे । मेने इसी पढ़ाई को लेकर   पोस्ट लिख चूका हूँ । वो भी आपको पसंद जरूर आएगा । उसको भो पढ़िए और दोस्तों में जरूर शेयर करिये की पढाई में मन लगाने कि मंत्र के बारे मैं। चलिए मिलते है नेक्स्ट पोस्ट में तब तक के लिए जय हिन्द

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment